0

आरग्वधारिष्ट के फायदे, औषधीय प्रयोग, मात्रा एवं दुष्प्रभाव

आरग्वधारिष्टम प्राकृतिक किण्वन प्रक्रिया के माध्यम से बनाई गयी अरिष्ट श्रेणी (Arishta Category) में वर्गीकृत एक आयुर्वेदिक और हर्बल औषधि…

0

अयस्कृति के फायदे, औषधीय प्रयोग, मात्रा एवं दुष्प्रभाव

अयस्कृति आमतौर पर केरल में मूत्र संबंधी विकार, रक्तस्राव, ल्यूकोडर्मा (leucoderma), त्वचा विकार, भूख की कमी, कृमि संक्रमण, रक्ताल्पता, शीघ्रकोपी…

0

अशोकारिष्ट के लाभ, औषधीय प्रयोग, मात्रा एवं दुष्प्रभाव

अशोकारिष्ट एक तरल आयुर्वेदिक औषधि है। इसमें लगभग 3 से 9% स्व-जनित मद्य सम्मिलित हो सकता है। यह महिला प्रजनन…

0

आयुर्वेदिक प्रकृति – आयुर्वेदिक शारीरिक प्रकार

आयुर्वेद में  शरीर को तीनों दोषों के अनुपात द्वारा निर्मित माना जाता है, जिसे कि आयुर्वेदिक प्रकृति (आयुर्वेदिक शारीरिक प्रकार) भी कहा जाता…

0

वात प्रकृति, पित्त प्रकृति और कफ प्रकृति में अंतर

निम्नलिखित तालिका आपको वात शारीरिक प्रकार, पित्त शारीरिक प्रकार, और कफ शारीरिक प्रकार में अंतर जानने में मदद करेगी। विवरण…

0

सम प्रकृति के शारीरिक और मानसिक लक्षण एवं सामान्य समस्याऐं

शरीर में किसी भी प्रकार के गैर-प्रभुत्व और शरीर में प्रत्येक दोष के संतुलन और सामंजस्य को सम शरीर प्रकार…