Dr. Jagdev Singh

डॉ जगदेव सिंह (B.A.M.S., M.Sc. Medicinal Plants) आयुर्वेदिक प्रैक्टिशनर है। वह आयुर्वेद क्लिनिक ने नाम से अपना आयुर्वेदिक चिकित्सालय चला रहे हैं।उन्होंने जड़ी बूटी, आयुर्वेदिक चिकित्सा और आयुर्वेदिक आहार के साथ हजारों मरीजों का सफलतापूर्वक इलाज किया है।आयुर टाइम्स उनकी एक पहल है जो भारतीय चिकित्सा पद्धति पर उच्चतम स्तर की और वैज्ञानिक आधार पर जानकारी प्रदान करने का प्रयास कर रही है।

आयुर्वेद के अनुसार सर्वश्रेष्ठ नमक

सर्वश्रेष्ठ नमक कौन सा है 

दैनिक उपयोग के लिए सर्वश्रेष्ठ नमक अष्टांग संगह, आयुर्वेदिक प्राचीन शास्त्रीय पुस्तक, उन खाद्य पदार्थों का सारांश प्रदान करती है जिन्हें आप दैनिक आधार पर उपभोग कर सकते हैं। इस पुस्तक के अनुसार, शाली चावल, गेहूं, जौ, शशिका चावल, जीवन्ती, मूली, हरीतकी, आंवला, मुनक्का और किशमिश, मूंग दाल, शक्कर या आयुर्वेदिक चीनी, गाय का घी, बारिश का पानी, दूध, शहद, …

Read More »

उषापान के लाभ

Ushapan

सूर्योदय से पहले8 अंजलि मात्रा में पानी पीना आयुर्वेद में उषापान कहलाता है। उषापान में सुबह हमें कितना पानी पीना चाहिए और क्यों पीना चाहिए, इसके बारे में हमारे चैनल पर पाहिले से ही एक विडियो और इस वेबसाइट में लेख है। आप उसे भी जरुर देखें। इस लेख में उषापान के 5 मुख्य लाभों के बारे में जानेगें।

Read More »

सुबह हमें कितना पानी पीना चाहिए और कब पीना चाहिए और किस बर्तन में रखा पानी पीना चाहिए

How much water should I drink

इस लेख में जाने कि हमें सुबह कितना पानी पीना चाहिए और कब पीना चाहिए और किस बर्तन में रखा पानी पीना चाहिए । सुबह पानी पीना आयुर्वेद सूर्य उगने से पहले खाली पेट पानी पीने की सलाह देता है। उषापान दो शब्दों से बना हैं – उषा और पान। उषा का अर्थ होता है वह समह जब सूरज का …

Read More »

अहिफेनासव का दस्त और मरोड़ रोकने के लिए कैसे प्रयोग करें

Diarrhea

अहिफेनासव एक आयुर्वेदिक औषधि जो दस्त और मरोड़ को तुरंत रोकने में सहयाक होती है। इस लेख में, आप जानेंगे कि Ahiphenasava क्या है। इसके उपयोग और लाभ क्या होते हैं? इसमें ingredients कौन से है और इसकी खुराक और दुष्प्रभाव (साइड ईफ्फेक्ट्स) क्या होते हैं। अहिफेनासव का उपयोग गंभीर अतिसार (दस्त) के उपचार में किया जाता है। यह हैजा …

Read More »

पीरियड्स के दर्द का असरदार घरेलु नुस्खा

Painful Periods

इस लेख में एक ऐसी औषधि के बारे में बताएंगे जो माहवारी के दर्द को दूर करती है। आप को इसका प्रयोग केबल ३ महीनो तक करना है और सदा के लिए आप मसिक धर्म या पीरियड्स के दौरान होने वाले अत्यधिक दर्द से छुटकारा पा सकते है। लड़कियों और महिलाओं में डिसमेनोरिया या मासिक धर्म का दर्दसबसे आम समस्या …

Read More »

अभयारिष्ट का बवासीर, कब्ज और पेट रोगों में कैसे प्रयोग करें

अभयारिष्ट कब्ज, बवासीर, पेट के रोग, और पेट की सफाई के लिए बहुत ही अच्छी दवा है। आइए इस लेख में बात करते हैं कि हम कब्ज, बवासीर, पेट के रोग, और पेट की सफाई के लिए अभयारिष्ट का उपयोग कैसे कर सकते हैं। और अभयारिष्ट के लाभ, उपयोग और खुराक क्या हैं। यह कैसे विषाक्त पदार्थों को कम करता …

Read More »

गिलोय घन वटी (Giloy Ghan Vati in Hindi)

Giloy (Tinospora Cordifolia)

गिलोय घन वटी घटक द्रव्य, उपयोग, लाभ, मात्रा तथा दुष्प्रभाव. गिलोय घन वटी सभी प्रकार के बुखार में फद्येमंद होती है। खासकर इसका प्रयोग रोग प्रतिरोधक शक्ति को बढ़ाने के लिए किया जाता है। चरक संहिता में गिलोय को मेध्य रसायन माना है। रसायन होने के कारण यह बुद्धिवर्धक और आयुवर्धक है। पूर्ण जानकारी के लिए विडियो देखें:-

Read More »

शिलाजीत का शोधन कैसे करते है? (How to Purify Shilajit)

Shilajit Shodhan शिलाजीत शोधन

आयुर्वेद में शिलाजीत का प्रयोग इस का शोधन करने के बाद ही किया जाता है। जो शिलाजीत हिमालय आदि पहाड़ों से प्राप्त होता है वह कई तरह के पत्थर, मिट्टी आदि अशुद्धियों से युक्त होता है। इसलिए इसे मनुष्य के खाने योग्य नहीं माना जाता।

Read More »