वटी गुटिका

अलग अलग प्रकार की औषधियों एवं जड़ी बूटियों को बारीक पीसकर शहद, चासनी, खांड़ आदि में मिलाकर या पानी, जड़ी बूटी स्वरस, काढ़े आदि में पकाकर जो गोलियां बनायी जाती हैं, उन्हें गुटिका या वटी कहा जाता है।

पुराने समय में यह हाथ से बनाई जाती थी जिससे गोलियां का आकार छोटा बड़ा हो सकता था। अब यह मशीन से बनाई जाती है और मात्रा भी प्रत्येक गोली की उचित होती है।

Back to top button