Browsing Category

स्वास्थ्य

अत्यधिक लार निस्सरण को कैसे रोके? – अधिक लार आने का कारण और घरेलू नुस्खों द्वारा उपचार

अत्यधिक लार निस्सरण का अर्थ है लार का अत्यधिक बनना या मुंह से लार लटकती रहना। बहुत से लोग लार के अतिरिक्त उत्पादन होने के बारे में बता रहे हैं। उन्हें लगता है कि लार उनके मुंह में है और वे इसे हर 2 मिनट के बाद थूकते हैं। कभी-कभी, उन्हें लगता है कि सुबह उठने पर मुंह लार से भरा होता है। यह प्रातःकाल में सुबह उठने पर अधिक होता है। आपको दांतों को ब्रश…
Read More...

तनाव के लिए लाभदायक है ब्राह्मी

आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में सबसे बड़ा रोग हैं तनाव और चिंता, जो दूसरी बिमारियों का भी मूल कारण हैं। इसी तनाव और चिंता को दूर करने के लिए सर्वोत्तम आयुर्वेदिक औषधि हैं- ब्राह्मी। कुदरती जड़ी-बूटियों से बनी यह औषधि तनाव, चिंता और अवसाद को दूर करके दिमाग को शांति प्रदान करती हैं। ब्राह्मी के बाजार में मिलने वाले पाउडर में जड़ी-बूटियों की पर्याप्त…
Read More...

हमें रात को दही क्यों नहीं खाना चाहिए?

आयुर्वेद अनुसार दही रात्रि को नहीं खाना चाहिए क्योंकि यह कफ वर्धक आहार हैं। रात को दही खाने से शरीर में कफ दोष की वृद्धि होती है जिस से छाती में बलगम बनती है और जुखाम, सर्दी और श्वास संबंधी रोगों के होने की संभावना बढ़ जाती है। रात को वैसे ही शरीर में कफ दोष (Kapha Dosha) की प्रबलता रहती है जो दही खाने से और अधिक बढ़ जाती है। इसीलिए रात्रि को…
Read More...

मुँहासे (Acne) के लक्षण, कारण, जाँच और निदान

किसी की त्वचा में मुँहासों की स्थिति तब बनती है जब त्वचा के रोम छिद्रों में तेल और मृत कोशिकाऐं जम जाती हैं। आम तौर पर यह देखा गया है कि मुँहासे चेहरे, गर्दन, छाती, पीठ और कंधे पर होते हैं। मुँहासों का उपचार करने के बाद भी यह लगातार होते रहते हैं। इनके उपचार की गति बहुत धीमी होती है, और उपचार किये गए स्थान के अलावा दूसरी जगह भी नए मुँहासे पनपने…
Read More...

एलर्जी के इलाज व उपचार के घरेलू उपाय और नुस्खे

एलर्जी को दूर करने के लिए घरेलु उपाय भी कारगर होते हैं। विभिन्न तरह की एलर्जी के लिए घरेलू उपाय इस प्रकार हैं। हर्बल चाय हर्बल चाय से एलर्जी की समस्या से राहत मिलती हैं। अदरक, काली मिर्च, तुलसी के पत्ते, लौंग व मिश्री से घर पर ही हर्बल चाय बनाये और पीयें। इसके सेवन से एलर्जी से भी छुटकारा मिलता हैं साथ में यह ऊर्जा का भी अच्छा स्त्रोत हैं। इसके…
Read More...

एलर्जी से बचने के लिए कुछ सुपरफूड

एलर्जी से बचने के लिए कुछ सुपरफूड इस प्रकार हैं, जिनका सेवन करने से एलर्जी से बचाव होता हैं: अदरक अदरक एंटी एलर्जिक खाद्य प्रदार्थ हैं, इसके सेवन से सांस की बीमारी से राहत मिलती हैं और अस्थमा से भी आराम मिलता हैं। अदरक का सेवन चाय में डाल कर भी किया जा सकता हैं और खाने में डाल कर भी इसे खाया जा सकता हैं। अदरक के सेवन से भी एलर्जी से बचने में…
Read More...

एलर्जी के लक्षण, कारण, जाँच और निदान

जब किसी व्यक्ति का रोग प्रतिरोधक तंत्र यानि इम्यून सिस्टम वातावरण में पाये जाने वाले किसी प्रदार्थ के संपर्क में आता हैं और उसके प्रति अस्वाभाविक प्रतिक्रिया करता है, तो एलर्जी जैसी समस्या होती हैं। एलर्जी की समस्या बच्चों से लेकर सभी उम्र के लोगों में देखने को मिलती है। शहरी वातावरण में तो इस तरह की समस्याएं ओर भी ज्यादा हैं। एलर्जी के बहुत से…
Read More...

अस्थमा या दमा – श्वास रोग

अस्थमा (Asthma) या दमा एक श्वास रोग है जिसमें श्वास नलिका अथवा वायुमार्ग में सूजन आ जाती है और वायुमार्ग संकीर्ण हो जाते है। कुछ में बलगम भी उत्पन्न होती है। जिस के कारण साँस लेने में तकलीफ होने लगती है। इसके अतिरिक्त रोगी को खांसी भी हो सकती है और घरघराहट की ध्वनि भी छाती में महसूस होती है। कुछ लोगों के लिए अस्थमा एक गंभीर समस्या हो सकता है और…
Read More...

भगन्दर (Bhagandar – fistula-in-ano) का देसी इलाज (घरेलू उपचार और नुस्खे)

भगन्दर (Fistula-in-Ano) एक जटिल रोग है जिसमे मरीज़ को काफी पीड़ा सहन करनी पड़ती है। इस में सबसे जरूरी है, इसकी पहचान और चिलित्सा सही समय पर हो जाये। इस लेख में हम जानेगे कि भगन्दर से पीड़ित रोगी को क्या खाना चाहीहे और कौन से घरेलू उपचार वा नुस्खे भगन्दर रोगी के लिए हितकारी है। भगन्दर रोग के बारे में अधिक पढ़ें भगन्दर रोग और इस के लक्षण, कारण,…
Read More...

भगन्दर रोग और इस के लक्षण, कारण, जाँच और निदान

भगन्दर गुद प्रदेश में होने वाला एक नालव्रण है जो भगन्दर पीड़िका (abscess) से उत्पन होता है। इसे इंग्लिश में फिस्टुला (Fistula-in-Ano) कहते है। यह गुद प्रदेश की त्वचा और आंत्र की पेशी के बीच एक संक्रमित सुरंग का निर्माण करता है जिस में से मवाद का स्राव होता रहता है। यह बवासीर से पीड़ित लोगों में अधिक पाया जाता है। सर्जरी या शल्य चिकित्सा या क्षार…
Read More...