दिव्य शिलाजीत रसायन वटी (Divya Shilajeet Rasayan Vati)

दिव्य शिलाजीत रसायन वटी (Divya Shilajeet Rasayan Vati) एक आयुर्वेदिक दवा है जो पुरुषों के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है। यह पुरुषों की शक्ति को बढ़ाती है और शरीर की कोशिकायों को मजबूत बनाती है। यह इरेक्टाइल डिसफंक्शन, नपुंसकता, शीघ्रपतन, स्वप्नदोष आदि के इलाज के लिए लाभकारी है। इसमें प्रमुख द्रव्य शुद्ध शिलाजीत है जो एक रसायन है और बल्य औषधि का कार्य करता है। इस योग में त्रिफला और भूमि आमला है जो शुक्रशोधक है। इसमें मौजूद भूमि आमला और त्रिफला शरीर को शुद्ध करने के लिए भी एक अद्भुत प्राकृतिक औषधि हैं। इसमें मौजूद अश्वगंधा शुक्रजनन का कार्य करता है।

दिव्य शिलाजीत रसायन वटी में अश्वगंधा मौजूद है जो पुरुषों के प्रजनन अंगो पर प्रभाव डालती हैं और वीर्य की गुणवत्ता और मात्रा को भी बढ़ाने में सहायक है। इस का दूसरा घटक भूमि आमला शरीर की कमजोरी को कम करता है और इम्युनिटी को भी बढ़ाता है और त्रिफला तीन जड़ी-बूटियों (आमला, हरड़ और बहेड़ा) का मिश्रण हैं जो शरीर की गन्दगी को बाहर निकालने में सहायता करता हैं और पाचन क्रिया भी ठीक रखता हैं।

दिव्य शिलाजीत रसायन वटी के घटक

दिव्य शिलाजीत रसायन वटी निम्नलिखित घटको से मिल कर बनाई गयी हैं:

घटक द्रव्य मात्रा
अश्वगंधा 60 मिलीग्राम
त्रिफला चूर्ण 60 मिलीग्राम
भूमि आमला 60 मिलीग्राम
शुद्ध शिलाजीत 120 मिलीग्राम

औषधीय कर्म (Medicinal Actions)

शिलाजीत रसायन वटी में निम्नलिखित औषधीय गुण है:

  • रसायन
  • शोथहर
  • वृष्य वा वाजीकरण
  • शुक्रजनन
  • शुक्रस्तम्भन
  • शुक्रशोधन
  • रक्त प्रसाधन
  • रोग प्रतिरोधक क्षमता बूस्टर
  • प्रमेहहर

चिकित्सकीय संकेत (Indications)

शिलाजीत रसायन वटी निम्नलिखित व्याधियों में लाभकारी है:

  • शारीरिक कमजोरी
  • मर्दाना कमजोरी
  • इरेक्टाइल डिसफंक्शन
  • नपुंसकता
  • शीघ्रपतन
  • स्वप्नदोष
  • क्षीण प्रतिरोधक क्षमता में कमी
  • मानसिक दुर्बलता
  • तनाव व चिंता

औषधीय लाभ एवं प्रयोग (Benefits & Uses)

दिव्य शिलाजीत रसायन वटी के सभी घटकों का प्रभाव मर्दाना रोगों में दिखाई पड़ता है। यह शारीरिक कमजोरी को दूर करती है। यह पुरुषों नई ऊर्जा का संचार करती है और मर्दाना शक्ति की वृधि करती है। यह पुरुषों के स्वास्थ्य के उपयोगी व हितकारी आयुर्वेडिक औषधि है। यह पुरुषों के रोगों के उपचार के लिए एक प्रसिद्ध आयुर्वेदिक औषधि है। प्रत्येक घटक के प्रभाव का प्रदर्शन करने के लिए यहाँ कुछ महत्वपूर्ण लाभ एवं औषधीय प्रयोग लिखे है।

मर्दाना कमजोरी

शिलाजीत रसायन वटी का मुख्य घटक शिलाजीत है जो पुराने समय से ही मर्दाना कमजोरी के उपचार के लिए प्रयोग में लाया जा रहा है। यह शरीर की कोशिकायों को मजबूत बनाता है और अश्वगंधा के साथ मिलकर मर्दाना कमजोरी को दूर कर पुरुषीय शक्ति को बढ़ाता है।

अल्पशुक्राणुता (वीर्य में शुक्राणुओं की कमी होना)

शिलाजीत रसायन वटी में मौजूद अश्वगंधा और शुद्ध शिलाजीत पुरुषों में शुक्राणुओ की संख्या बढ़ाता है। इसलिए इस का प्रयोग अल्पशुक्राणुता  के उपचार के लिए भी किया जाता है।

स्वप्नदोष

शिलाजीत रसायन वटी स्वप्नदोष के लिए भी लाभदायक है। यह स्वप्नदोष के कारण उत्पन हुई निर्बलता को दूर कर बृहण का कार्य करती है और नष्ट हुई ऊर्जा को पूर्ण करने में सहायक है। अच्छे परिणाम के लिए इस रोग में इसका प्रयोग शिरीष बीज चूर्ण, आमलकी रसायन, मुलेठी चूर्ण, और शतावरी के साथ अधिक हितकर है। यह सभी जड़ी बूटियों बराबर मात्रा में मिलाकर आधा चम्मच सुबह और शाम को लें। साथ में ही शिलाजीत रसायन वटी और चंद्रप्रभा वटी  का सेवन करें।

इरेक्टाइल डिसफंक्शन

पुरुषों में जननांग की अक्षमता के कारण इरेक्टाइल डिसफंक्शन होता है।  ज्यादा शराब उपभोग, थकान, तनाव और प्रदर्शन की चिंता आदि भी इसके कारण हो सकते है। इन सभी कारणों में दिव्य शिलाजीत रसायन वटी अति लाभकारी है। इसका प्रयोग कौंच पाक के साथ करने से बहुत लाभ मिलता है।

इम्युनिटी बढ़ाने के लिए

दिव्य शिलाजीत रसायन वटी शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने के लिए बेहतरीन उत्पाद है। इकसे घटक ख़ास तौर पर अश्वगंधा, भूमि आमला और शिलाजीत रोग प्रतिरोधक क्षमता बूस्टर है।

मात्रा एवं सेवन विधि (Dosage)

दिव्या शिलाजीत रसायन वटी की सामान्य औषधीय मात्रा  व खुराक इस प्रकार है:

औषधीय मात्रा (Dosage)

वयस्क 2 गोली

सेवन विधि

दवा लेने का उचित समय (कब लें?) सुबह और शाम
दिन में कितनी बार लें? 2 बार
अनुपान (किस के साथ लें?) गुनगुने पानी या दूध के साथ
उपचार की अवधि (कितने समय तक लें) कम से कम 3 महीने चिकित्सक की सलाह लें

आप के स्वास्थ्य अनुकूल शिलाजीत रसायन वटी की उचित मात्रा के लिए आप अपने चिकित्सक की सलाह लें।

दुष्प्रभाव (Side Effects)

यदि दिव्य शिलाजीत रसायन वटी का प्रयोग व सेवन निर्धारित मात्रा (खुराक) में चिकित्सा पर्यवेक्षक के अंतर्गत किया जाए तो शिलाजीत रसायन वटी के कोई दुष्परिणाम नहीं मिलते।

अधिक मात्रा में शिलाजीत रसायन वटी के साइड इफेक्ट्स की जानकारी अभी उपलब्ध नहीं है।


संबंधित पोस्ट

Comments are closed.