दिव्य स्त्री रसायन वटी (Divya Stri Rasayan Vati) महिलायो के स्वास्थ्य के लिए एक प्रसिद्ध आयुर्वेदिक औषधि है। यह मासिक धर्म की समस्याओं के लिए सबसे यह सबसे लाभदायक औषधि हैं। वो महिलाये जो लंबे समय से  मासिक धर्म में होने वाली परेशानियों से पीड़ित हैं, इस औषधि के सेवन से उन्हें लाभ मिलेगा। स्त्री रसायन वटी समस्याओं जैसे मासिक धर्म में अनियमितता, अधिक रक्त स्त्राव, अक्सर होने वाले मूड में बदलाव, सिर-दर्द, पेट दर्द, कमर में दर्द और बैचैनी जैसी समस्याओं से राहत मिलती हैं। इसमें मौजूद प्राकृतिक जड़ी-बूटियां हार्मोन को संतुलित रखने और यौन अंगों के सामान्य रूप से काम करने में भी मदद करती हैं।इसके प्रयोग से कब्ज और पेट के भारीपन से भी छुटकारा मिलता है।

घटक द्रव्य एवं निर्माण विधि

दिव्य स्त्री रसायन वटी (Divya Stri Rasayan Vati) निम्नलिखित घटको का मिश्रण हैं:

घटक द्रव्यमात्रा
शिवलिंगी28 मिलीग्राम
पारस पीपल28 मिलीग्राम
नागकेशर28 मिलीग्राम
अश्वगंधा28 मिलीग्राम
शरपुन्खा28 मिलीग्राम
शतावर28 मिलीग्राम
मुलेठी28 मिलीग्राम
आंवला28 मिलीग्राम
देवदारु28 मिलीग्राम
कमल28 मिलीग्राम
श्वेत चन्दन28 मिलीग्राम
पुत्रजीवक28 मिलीग्राम
शिलाजीत28 मिलीग्राम
प्रवाल पिष्ठि28 मिलीग्राम
वंशलोचन28 मिलीग्राम
अर्क34 मिलीग्राम
गुग्गुलु26 मिलीग्राम
लौह भस्म26 मिलीग्राम

स्त्री रसायन वटी के लाभ एवं प्रयोग

स्त्री रसायन वटी में सभी घटकों का स्त्री स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ता है। प्रत्येक घटक के प्रभाव का प्रदर्शन करने के लिए यहाँ कुछ महत्वपूर्ण लाभ लिखे हैं।

स्त्री संबंधी रोगों के लिए

स्त्री रसायन  वटी सभी स्त्री रोगों की रोकथाम करता हैं और मासिक धर्म की परेशानियों को दूर करने का सबसे बेहतरीन उपाय हैं। यह अत्यार्तव (menorrhagia), dysmenorrhea, amenorrhea या किसी भी अन्य मासिक धर्म रोगों के लिए भी एक उपयुक्त दवाई हैं।

मासिक धर्म में होने वाली समस्याओं

स्त्री रसायन वटी मासिक धर्म में होने वाली समस्याओं जैसे अधिक रक्त स्त्राव, अनियमित मासिक धर्म, अक्सर होने वाले मूड में बदलाव, सिर-दर्द, पेट दर्द, कमर में दर्द और बैचैनी को भी दूर करती हैं।

हॉर्मोन्स को संतुलित रखता हैं

स्त्री रसायन वटी हार्मोन्स का संतुलन बनाये रखती हैं। वो महिलाये जिन्हें मासिक धर्म के दौरान अधिक रक्त स्त्राव से होने वाली कमजोरी होती हैं उसे भी दूर करती हैं और अनीमिया जैसी बीमारी से भी बचाती है, इसके अलावा यह यौन अंगो का पोषण करती हैं ताकि यह अपना काम सामान्य तरीके से और सुचारू रूप से कर सके।

घबराहट, कब्ज और भ्रम जैसी बिमारियों को दूर करने के लिए आवश्यक

मासिक धर्म के दौरान होने वाली समस्याओं जैसे घबराहट व भ्रम को भी स्त्री रसायन  वटी दूर करने में सहायक हैं और साथ में ही यह औषधि दिमाग को स्थिर रखती हैं। स्त्री रसायन वटी इन दिनों में होने वाली कब्ज की रोकथाम करती है पाचन शक्ति को भी बढाती हैं, जिससे खाना आसानी से पचता हैं और पेट का भारीपन और अम्लता भी दूर होती हैं  ।

त्वचा संबंधी समस्याओं से छुटकारा

स्त्री रसायन वटी महिलायों में में मौजूद जड़ी-बूटियां मासिक धर्म के दौरान होने वाली त्वचा संबंधी परेशानियों जैसे मुँहासे और दाग इत्यादि को होने से भी यह औषधि रोकती हैं, इसके अलावा यह महिलायो में होने वाली leucorrhoea या सफ़ेद पानी जैसी समस्या से भी स्त्री रसायन  वटी मुक्ति दिलाती हैं और इनका कोई दुष्प्रभाव नही होता।

आयुर्वेदिक डॉक्टर से परामर्श करें
Click Here to Consult Dr. Jagdev Singh