गुड़मार अर्क या गुरमार अर्क (Gudmar Arq) मधुमेह की एक उत्तम औषधि के रूप में प्रयोग की जाती है। यह रक्त शर्करा के स्तर को कम करने के लिए एक कारगर दवा है। इसका प्रयोग मुख्य रूप से रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है। इसके अतिरिक्त यह बड़े हुए कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड के स्तर को भी कम करता है। यह ह्रदय के लिए भी एक अच्छा टॉनिक है।

घटक द्रव्य एवं निर्माण विधि

गुड़मार अर्क में निम्नलिखित घटक द्रव्यों है:

घटक द्रव्यों के नाममात्रा
गुड़मार पत्ती1 भाग
पानी4 भाग

निर्माण विधि

गुड़मार पत्ती को पानी में भिगोकर कुछ घंटे रख दें। फिर अर्क यन्त्र में डालकर गुड़मार पत्ती का अर्क निकाल लें।

औषधीय कर्म

गुड़मार अर्क में निम्नलिखित औषधीय गुण है:

  1. मधुमेह नियंत्रक
  2. मधुमेह हर
  3. रक्त शर्करा नियंत्रक
  4. रक्त शर्करा की वृद्धि को रोकने वाला
  5. रक्त शर्करा नियंत्रित करने वाला
  6. हृदय उत्तेजक
  7. मूत्रल
  8. कटु पौष्टिक

चिकित्सकीय संकेत (Indications)

गुड़मार अर्क निम्नलिखित व्याधियों में लाभकारी है:

  1. मधुमेह
  2. उच्च कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड स्तर
  3. हृदय दुर्बलता – हृदय की निर्बलता या कमजोरी

मात्रा एवं सेवन विधि (Dosage)

गुड़मार अर्क (Gudmar Ark)  की सामान्य औषधीय मात्रा  व खुराक इस प्रकार है:

औषधीय मात्रा (Dosage)

बच्चे10 से 20 मिलीलीटर
वयस्क20 से 60 मिलीलीटर

सेवन विधि

दवा लेने का उचित समय (कब लें?) खाली पेट लें या खाना खाने के 30 मिनट पहिले लें या खाना खाने के 1 घंटे बाद लें
दिन में कितनी बार लें?2 बार – सुबह और शाम (जरूरत अनुसार इसका प्रयोग 3 बार भी किया जा सकता है।)
अनुपान (किस के साथ लें?)गुनगुने पानी में मिलकर
उपचार की अवधि (कितने समय तक लें)चिकित्सक की सलाह लें

आप के स्वास्थ्य अनुकूल गुड़मार के अर्क  की उचित मात्रा के लिए आप अपने चिकित्सक की सलाह लें।

दुष्प्रभाव (Side Effects)

यदि गुड़मार के अर्क  का प्रयोग व सेवन निर्धारित मात्रा (खुराक) में चिकित्सा पर्यवेक्षक के अंतर्गत किया जाए तो गुड़मार अर्क  के कोई दुष्परिणाम नहीं मिलते।

गर्भावस्था और स्तन पान (Pregnancy & Lactation)

गर्भावस्था और स्तन पान दौरान गुड़मार के अर्क  का प्रयोग करने से पहिले चिकित्सक की सलाह अवश्य लें।

आयुर्वेदिक डॉक्टर से परामर्श करें
Click Here to Consult Dr. Jagdev Singh