आयुर्वेद अनुसार दही रात्रि को नहीं खाना चाहिए क्योंकि यह कफ वर्धक आहार हैं। रात को दही खाने से शरीर में कफ दोष की वृद्धि होती है जिस से छाती में बलगम बनती है और जुखाम, सर्दी और श्वास संबंधी रोगों के होने की संभावना बढ़ जाती है।

रात को वैसे ही शरीर में कफ दोष (Kapha Dosha) की प्रबलता रहती है जो दही खाने से और अधिक बढ़ जाती है। इसीलिए रात्रि को हल्का भोजन खाने की सलाह दी जाती है।

हालांकि दही सभी को नुकसान नहीं करता पर नुकसान होने की संभावना बढ़ जाती है जो कि छाती के रोगियों में प्रत्यक्ष रूप से सामने आती है।

आयुर्वेदिक डॉक्टर से परामर्श करें
Click Here to Consult Dr. Jagdev Singh