हिमालय पाइलेक्स टैबलेट्स – बवासीर के लिए अच्छी दवा

Himalaya Pilex Tablets For Piles

हिमालय पाईलेक्स, हिमालय ड्रग कंपनी द्वारा निर्मित एक आयुर्वेदिक औषधि है। दो प्रकार के उत्पाद उपलब्ध हैं – पाईलेक्स गोलियाँ और पाईलेक्स मरहम। पाईलेक्स गोलियाँ को बवासीर के प्रबंधन के लिए दिया जाता है और पाईलेक्स मरहम का उपयोग खुजली, असुविधा और दर्द को कम करने के लिए किया जाता है।

पाईलेक्स गोलियाँ आंतरिक उपयोग
पाईलेक्स मरहम। बाहर लगाने के लिए

पाईलेक्स गोली और पाईलेक्स मरहम का संयोजन गुदा में असुविधा से राहत देता है, बवासीर के आकार को कम करता है और गुदा के दर्द को कम करता है।

पाईलेक्स टैबलेट रक्तस्राव या बिना-रक्तस्राव के बवासीर में, आंतरिक या बाहरी बवासीर में और वैरिकाज़ नसों में एक सहायक चिकित्सा के रूप में उपयोगी है।

घटक द्रव्य (Ingredients)

पाइलेक्स टेबलेट में निम्नलिखित घटक द्रव्यों है:

शुद्ध गग्गुलू – Guggulu 26 मिलीग्राम
शुद्ध शिलजीतPurified Shilajit 32 मिलीग्राम
नीम के बीज – Azadirachta Indica 14 मिलीग्राम
निम्नलिखित जड़ी बूटियों के सत्व  –
दारुहल्दी 64 मिलीग्राम
आमला (अमालाकी) – Indian Gooseberry 32 मिलीग्राम
हरीतकी या हरड़  – Terminalia Chebula 32 मिलीग्राम
बिभीतकी 32 मिलीग्राम
अमलतास 32 मिलीग्राम
कंचनार 32 मिलीग्राम
नागकेसर 6 मिलीग्राम

चिकित्सीय संकेत

पाइलेक्स टेबलेट निम्नलिखित व्याधियों में लाभकारी है:

  1. रक्त स्राव बवासीर
  2. गैर रक्तस्राव बवासीर
  3. आंतरिक या बाहरी बवासीर
  4. गुदा में असुविधा या दर्द

पाइलेक्स टेबलेट के लाभ और उपयोग

पाइलक्स टेबलेट, हेमोरेराइड मास को सिकोड़ती हैं और खून का बहाव रोकती हैं। पाइलक्स श्लेष्म झिल्ली और त्वचा की सूजन को कम कर देता है। यह गुदा के रक्तस्राव को कम करता है, दर्द और खुजली दूर करता है और पुरानी कब्ज का उपचार करता है, जो कि बवासीर का मुख्य लक्षण है।

फ़िशर (विदर)

विदर में पिलक्स गोलियां का उपयोग पीलेक्स मरहम के साथ किया जाना चाहिए। आम तौर पर, विदर में अकेला मलहम तंतुओं में अच्छे परिणाम प्रदान कर सकता है। पाइलक्स गोलियों और मरहम के अलावा, तंतुओं के त्वरित उपचार के लिए गंधक रसयान और यशद भस्म को भी लेने की आवश्यकता हो सकती है।

रक्त स्राव वाला बवासीर

पाईलेक्स गोली में दारुहल्दी (बेर्बेरीस अरिस्ताटा), नीम के बीज और नागकेसर शामिल हैं, जो रक्तस्राव बवासीर के लिए प्रभावी उपाय हैं। हल्के मामलों में, यह अकेले ही अच्छी राहत प्रदान कर सकता है। अगर हेमोरॉहाइड्स के साथ हल्का रक्तस्राव हो तो पाईलेक्स प्रभावी है। गंभीर मामलों में, किसी अन्य उपचार की भी आवश्यकता हो सकती है जिसमें प्रवाल पिष्टी, कहरवा पिष्टी (त्रिंकान्त मणि पिष्टी), यष्टिमधु, आमला, अर्शोघ्नि वटी आदि शामिल हैं। आप यहां विवरण पा सकते हैं: बवासीर के लिए आयुर्वेदिक उपचार।

बिना रक्तस्राव का बवासीर

पाईलेक्स गोलियां बवासीर को सिकोड़ देती हैं और उसकी सूजन को भी कम कर देती हैं। इसमें उपस्थित घटक गैस (वायु) का उचित उन्मूलन करने में मदद करते हैं और वात उत्तेजना को कम करते हैं, जिससे रक्त वाहिकाओं के तनाव को कम करने में मदद मिलती है और इससे बवासीर का द्रव्यमान कम होने की संभावना बनती है। गंभीर मामलों में, सबसे अच्छे परिणाम के लिए इसका उपयोग कंकायन वटी के साथ किया जा सकता है।

पाइलेक्स टेबलेट की मात्रा एवं सेवन विधि (Dosage)

पाइलेक्स टेबलेट की सामान्य औषधीय मात्रा  व खुराक इस प्रकार है:

औषधीय मात्रा (Dosage)

बच्चे 1 गोली
वयस्क 2 गोलियाँ

सेवन विधि

दवा लेने का उचित समय (कब लें?) भोजन के बाद
दिन में कितनी बार लें? 2 से 3 बार
अनुपान (किस के साथ लें?) गुनगुने पानी
उपचार की अवधि (कितने समय तक लें) कम से कम 1 से 3 महीने या चिकित्सक की सलाह लें

 

आप के स्वास्थ्य अनुकूल पाइलेक्स टेबलेट की उचित मात्रा के लिए आप अपने चिकित्सक की सलाह लें।

आपको मेडिकल पर्यवेक्षण के अन्तर्गत पाईलेक्स लेनी चाहिए। कुछ मामलों में, समस्या के उपचार के लिए अन्य दवाओं की भी आवश्यकता हो सकती है या यदि तीसरी डिग्री वाले हेमोरॉहाइड्स हों तो शल्य चिकित्सा की आवश्यकता भी हो सकती है। पाईलेक्स गोलियाँ पहली डिग्री के बवासीर में मदद कर सकती हैं।

पाईलेक्स टेबलेट के दुष्प्रभाव

पाईलेक्स गोलियों में कोई भी दुष्प्रभाव नहीं देखा गया है।

पाईलेक्स के बारे में पूछे जाने वाले प्रश्न

क्या स्तनपान कराने वाली माताऐं पाईलेक्स गोलियाँ ले सकती हैं?

पाईलेक्स गोलियों में ऐसा कोई घटक नहीं है, जिससे शिशुओं में दुष्प्रभाव हो सकता है। यह स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए संभवतः सुरक्षित है, स्तनपान के दौरान पाइलक्स गोलियां चिकित्सा पर्यवेक्षण के तहत प्रयोग में लायी जा सकती हैं।

क्या मैं गर्भावस्था के दौरान पाईलेक्स गोलियाँ ले सकती हूँ?

नहीं, पाईलेक्स की गर्भावस्था के दौरान संस्तुति नहीं की जाती है। अगर आपको कोई समस्या है, तो कृपया अपने डॉक्टर से कहें।

मुझे कितने दिनों तक पाईलेक्स गोलियाँ लेनी चाहिए? बवासीर को ठीक करने के लिए मुझे इसे कब तक लेना चाहिए?

पाईलेक्स उपयोग के लिए कोई निर्दिष्ट अवधि नहीं है और इसका उपयोग बवासीर से पूरी तरह राहत मिलने तक किया जा सकता है। उपचार की अवधि हर व्यक्ति में भिन्न हो सकती है। जब आपको पूरा आराम मिल जाए, तो आप इसे बंद कर सकते हैं। आमतौर पर, बवासीर के प्रबंधन में अच्छे परिणाम मिलने में 4 से 12 सप्ताह का समय लग सकता है।

क्या हम एक समय में दो गोली ले सकते हैं या एक गोली दो बार या तीन बार?

पाईलेक्स गोलियों की वयस्क खुराक दो गोलियाँ दिन में दो बार है अर्थात आपको सुबह और शाम दोनों समय दो दो गोलियां लेनी होंगी।

बोतल पर लिखा है कि दिन में 2 या 3 गोलियाँ दो बार या तीन बार। कौन सा सही है?

हल्के मामलों में, दिन में दो बार दो गोलियां पर्याप्त मात्रा में होती हैं। मध्यम मामलों में, किसी को दो गोलियाँ दिन में तीन बार की भी आवश्यकता हो सकती है।

पाईलेक्स गोली लेते समय क्या खाने पर भी कोई प्रतिबंध है?

हां, तेल, मसालेदार और खट्टे खाद्य पदार्थ प्रतिबंधित हैं।

क्या मैं 3 गोलियाँ दिन में तीन बार ले सकता हूं? क्या इस खुराक को लेने का कोई दुष्प्रभाव है?

इस खुराक को लिया जा सकता है अगर कोई चिकित्सक इसकी संस्तुति करता है। हर मामले में खुराक भिन्न हो सकती है। इस खुराक के साथ कोई दुष्प्रभाव नहीं होना चाहिए।

क्या मैं बवासीर से पीड़ित होते हुए दूध पी सकता हूँ या नहीं?

हां, बवासीर से पीड़ित रोगी दूध पी सकता है।

संदर्भ

  1. Himalaya Pilex Tablets – AYURTIMES.COM
आपको यह भी पसंद आ सकता हैं