जड़ी बूटी, आयुर्वेद, स्वास्थ्य, घरेलू नुस्खे, रोगों के बारे में हिंदी में जानें

किरातादि अर्क

Kiratadi Arq

किरातादि अर्क (Kiratadi Arq) का प्रयोग ज्वर (बुखार) के इलाज के लिए किया जाता है। यह बुखार कम करने अर्थात उतारने के काम आता है।  यह अर्क विषमज्वर, एक दिन के बाद आने वाला ज्वर, दो दिन के बाद आने वाला ज्वर, तीन दिन के बाद आने वाला ज्वर और चार दिन के बाद आने वाला ज्वर आदि में प्रयोग किया जाता है। इसको प्रवाल पिष्टी के साथ मिलकर दिया जाता है। यह दोनों दवाईआं एक दो दिन में आम और दोष का पाचन कर ज्वर से छुटकारा दिलाती है। यह अर्क रोगी के दिल की रक्षा भी करती है और ज्वर के बाद आने वाली दुर्बलता को भी दूर करती है।

घटक द्रव्य एवं निर्माण विधि

किरातादि अर्क (Kiratadi Ark) में निम्नलिखित घटक द्रव्यों है:

  • चिरायता
  • कुटकी
  • नीम की अन्तरछाल
  • सोंठ
  • हरड़
  • धमासा
  • पटोलपत्र
  • लाल चन्दन
  • नागरमोथा
  • खस

निर्माण विधि

किरातादि अर्क का निर्माण करने के लिए सबसे पहले इन 10 औषधियों को बराबर भाग में मिलाकर कूट लें। इसके बाद इस कूटे हुए चूर्ण को इसके 8 गुने पानी में रात भर के लिए भिगो दें। अगले दिन सुबह नलिकायंत्र द्वारा इसका अर्क निकल लें।

औषधीय कर्म (Medicinal Actions)

किरातादि अर्क में निम्नलिखित औषधीय गुण है:

  • ज्वरघ्न – बुखार कम करने वाली औषधि
  • आमपाचन – शरीर के टॉक्सिन को नष्ट करने वाली
  • दाहप्रशमन – जलन कम करने वाला
  • रोग प्रतिरोधक शक्ति वर्धक
  • प्रतिउपचायक – एंटीऑक्सीडेंट
  • ह्रदय – दिल को ताकत देने वाला
  • क्षुधावर्धक – भूख बढ़ाने वाला
  • पाचन – पाचन शक्ति बढाने वाली
  • दीपन – जठराग्नि को प्रदिप्त करता है
  • यकृत वृद्धिहर
  • कामलाहर
  • जीवाणु नाशक
  • मूत्र दुर्गन्धनाशक
यह भी देखें  बाल बन्धु अर्क

चिकित्सकीय संकेत (Indications)

किरातादि अर्क निम्नलिखित व्याधियों में लाभकारी है:

  1. ज्वर
  2. विषमज्वर
  3. एक दिन के बाद आने वाला ज्वर
  4. दो दिन के बाद आने वाला ज्वर
  5. तीन दिन के बाद आने वाला ज्वर
  6. चार दिन के बाद आने वाला ज्वर
  7. ज्वर के बाद भूख में कमी
  8. ज्वर के बाद होने वाली निर्बलता

मात्रा एवं सेवन विधि (Dosage)

किरातादि अर्क की सामान्य औषधीय मात्रा  व खुराक इस प्रकार है:

औषधीय मात्रा (Dosage)

बच्चे 5 से 15 मिलीलीटर
वयस्क 10 से 30 मिलीलीटर

सेवन विधि

दवा लेने का उचित समय (कब लें?) तीन तीन घंटे के बाद लें जब तक बुखार उतर न जाए।
दिन में कितनी बार लें? जरूरत अनुसार लें
अनुपान (किस के साथ लें?) गुनगुने पानी में मिलकर लिया जा सकता है

आप के स्वास्थ्य अनुकूल किरातादि अर्क की उचित मात्रा के लिए आप अपने चिकित्सक की सलाह लें।

दुष्प्रभाव (Side Effects)

यदि किरातादि अर्क का प्रयोग व सेवन निर्धारित मात्रा (खुराक) में चिकित्सा पर्यवेक्षक के अंतर्गत किया जाए तो किरातादि अर्क के कोई दुष्परिणाम नहीं मिलते। अधिक मात्रा में किरातादि अर्क के साइड इफेक्ट्स की जानकारी अभी उपलब्ध नहीं है।

गर्भावस्था और स्तनपान (Pregnancy & Lactation)

गर्भावस्था और स्तनपान दौरान किरातादि अर्क का प्रयोग करने से पहिले चिकित्सक की सलाह अवश्य लें।