ह्रदय रोग दूर करने के घरेलू आयुर्वेदिक नुस्खे

हृदय रोग एक जानलेवा बीमारी है जो आजकल बहुत से लोगों में बढ़ रही हैं। विश्व में लगभग 30% लोग हृदय रोग से पीड़ित है। भारत में हर साल बहुत से लोगों की मौत दिल के रोगों से हो रही है। हृदय रोगों का मुख्य कारण कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना, तनाव, धूम्रपान इत्यादि है। अगर आप भी हृदय की बीमारी से पीड़ित है तो टेंशन लेने की जरूरत नहीं है। आज हम आपको ह्रदय रोगों की…
Read More...

नीलवम्बू कुदिनीर (नीलवम्बू कषायं)

नीलवम्बू कुदिनीर (Nilavembu Kudineer) को नीलवम्बू कषायं (Nilavembu Kashayam) भी कहा जाता है। यह एक सिद्ध चिकित्सा में ज्वर (बुखार) और ज्वर के कारण होने वाले शरीर के दर्द में प्रयुक्त होने वाली एक औषधि है। यह विषाणु संक्रमण (वायरल इन्फेक्शन), चिकनगुनिया और डेंगू फीवर के उपचार और रोकथाम के लिए लाभदायक है। विशेष रूप से यह बुखार के साथ होने वाली तकलीफो…
Read More...

सितोपलादि चूर्ण

सितोपलादि चूर्ण (Sitopaladi Churna) एक आयुर्वेदिक औषधि है। प्राचीन काल के महान ग्रन्थ चरक चिकित्सा स्थान के राजयक्ष्मा अध्याय में इसका उल्लेख है। कुछ अन्य ग्रन्थ जैसे शारंगधर संहिता, गद निग्रह, योग रत्नाकर, भैषज्य रत्नावली आदि में भी इसका उल्लेख खांसी, कफ और बहुत सी अन्य बिमारियों के उपचार में है। सितोपलादि चूर्ण का सेवन विभिन्न प्रकार के रोगों…
Read More...

सारस्वतारिष्ट स्वर्ण युक्त (सारस्वतारिष्टम गोल्ड)

सारस्वतारिष्ट या Saraswatharishtam) एक आयुर्वेदिक औषधि है जिसका उपयोग प्राचीन काल से कई मानसिक रोगों के उपचार ले लिए किया जाता रहा है। यह स्मरण शक्ति, ध्यान केंद्रित करना, बुध्दिमत्ता, तनाव, आयु, बल, वीर्य, यौन एवम सामान्य दुर्बलता, अवसाद, अनिद्रा, व्यग्रता, हृदय रोग, भूख न लगना, बेचैनी आदि की एक उत्तम आयुर्वेदिक औषधि है। इसे स्वर-भंग और हकलाने में…
Read More...

उद्वर्तन आयुर्वेदिक चूर्ण मालिश

उद्वर्तन(udvartana) : जड़ी बूटियों से तैयार किये गया पाउडर जिसका इस्तेमाल शरीर की मालिश करने के लिए किया जाता है उसको उद्धार्थनं कहा जाता है।  आयुर्वेदिक विशेष्यज्ञों  दुआरा उद्वर्तन को सबसे एच मालिश का तरीका बताया गया है। उद्वर्तन एक आयुर्वेदिक पाउडर के रूप में के  रूप  में  होता है। उद्वर्तन पाउडर को बनाने के लिए जड़ी बूटियों  का प्रयोग  किया जाता…
Read More...