Tag Archives: First Edition

अडूसा (वासा)

अडूसा (वासा)

अडूसा जिसे वासा भी कहा जाता है एक आयुर्वेदिक औषधीय पौधा है। इस पौधे का प्रयोग खांसी, अस्थमा, साँस की तकलीफ, नाक बंद होना, रक्तस्राव संबंधी विकार, एलर्जी, श्वसन प्रणाली के संक्रमण, गर्भाशय से अत्यधिक रक्तस्राव, माहवारी  में अत्यधिक खून बहना, और नाक से खून बहना आदि समस्याओं को दूर …

Read More »

ताम्र भस्म

ताम्र भस्म - Tamra Bhasma

प्रागैतिहासिक काल से ही, मनुष्य स्वास्थ्य और रोगों के उपचार के लिए दवाओं के विभिन्न स्रोतों का उपयोग कर रहा है। धातु और खनिजों का उपयोग आयुर्वेदिक चिकित्सा का एक प्रमुख भाग रहा है। ताम्र (तांबा) एक ऐसी ही धातु है जिसे विधिपूर्वक संसाधित और विषहरण करने पर यह कई …

Read More »

त्रिवंग भस्म

त्रिवंग भस्म - Trivang Bhasma

त्रिवंग भस्म हर्बल और धातु सामग्री से बनी एक आयुर्वेदिक औषधि है। यह एक आयुर्वेदिक धातु युक्त निर्माण है जिसमें वंग (टिन), नाग (सीसा) और यशद (जस्ता) की बराबर मात्रा की भस्म होती है। त्रिवंग भस्म को नपुंसकता के लिए, स्वप्नदोष, मधुमेह, बार बार पेशाब आने पर, आवर्ती गर्भपात, लयूकोरिया, …

Read More »

नाग भस्म

नाग भस्म - Naga Bhasma

नाग भस्म एक आयुर्वेदिक औषधि है जिसका निर्माण सीसे (लेड) से किया जाता है। नाग भस्म में लेड सल्फाइड होता है जिसे अन्य कार्बनिक पदार्थों और जड़ी बूटियों के साथ मिलाकर इस भस्म को बनाया जाता है। आयुर्वेद में नाग भस्म को अक्सर पेशाब आने, मूत्र असंयम, मधुमेह, प्लीहा वृद्धि, …

Read More »

लौह भस्म

लौह भस्म - Lauh Bhasma (Loha Bhasma)

लौह भस्म लोहे से बनायी गयी आयुर्वेदिक औषधि है। लौह भस्म लोहे (आयरन) का ऑक्साइड है और आयुर्वेद में इसका महत्त्वपूर्ण उपयोग है। यह रक्त धातु में वृद्धि करता है जिसके कारण शरीर को बल मिलता है। लौह भस्म एक बहुत ही उत्तम रसायन है जो पूरे स्वास्थ्य को अच्छा …

Read More »

वंग भस्म

वंग भस्म - Bang Bhasma

वंग भस्म टिन से तैयार एक आयुर्वेदिक दवा है। वंग भस्म को निस्तापन की क्रिया से बनाया जाता है जिसमें शोधन, मर्दन और मारण की क्रिया सम्मिलित है। इस क्रिया से औषधि अपने ऑक्साइड रूप में परिवर्तित हो जाती है और बहुत ही महीन कण के आकार में आ जाती …

Read More »

गुड़ के फायदे और नुकसान

गुड़ - Jaggery

गुड़ कच्ची शक्कर का पारम्परिक रूप है या गन्ने के रस से प्राप्त अपरिष्कृत शक्कर है। इसे बनाने के लिए गन्ने के रस को गर्म करके गुड़ के मोटे क्रिस्टल बनाये जाते हैं। यह गहरे पीले या भूरे रंग का होता हैं और रासायनिक संसाधित या अपकेंद्री चीनी का बहुत …

Read More »

अमृतादि गुग्गुलु

अमृतादि गुग्गुलु - Amritadi Guggulu

अमृतादि गुग्गुलु (Amritadi Guggulu) एक गुगुल आधारित हर्बल औषधि है। आयुर्वेदिक चिकित्सक इसका उपयोग वातरक्त, बवासीर, त्वचा रोग, घाव, संधिशोथ, नासूर, कमजोर पाचन शक्ति और कब्ज के लिए करते हैं। Amritadi Guggulu is an ayurvedic medicine which is used for conditions like piles, gout, skin infections, rheumatoid arthritis, wounds, reduced …

Read More »

काला नमक लाभ और दुष्प्रभाव

काला नमक - Kala Namak

काला नमक (जो हिमालयन काला नमक या अंग्रेजी में भारतीय काला नमक के नाम से भी जाना जाता है) एक प्रकार का सेंधा नमक (Rock Salt) है, जो आम तौर पर गहरी लाली लिए हुए काले रंग का होता है और इसमें तीखी सल्फर की गंध होती है। काले नमक …

Read More »

रजत भस्म (चांदी भस्म या रौप्य भस्म) के लाभ, प्रयोग, मात्रा एवं दुष्प्रभाव

रजत भस्म (रौप्य भस्म) - Raupya Bhasma (Rajat Bhasma)

रजत भस्म (Rajat Bhasma) एक आयुर्वेदिक औषधि है जिस को रौप्य भस्म (Raupya Bhasma) और चाँदी भस्म (Chandi Bhasma) भी कहा जाता है। यह एक रसायन (रेजुवेनातिंग एजेंट) की भान्ति प्रयोग में आने वाली औषधि है जो शारीर के कायाकल्प करने में मदद करती है। यह चांदी से भस्मीकरण प्रक्रिया के द्वारा …

Read More »